शुक्रवार, 12 जून 2009

"समाधी स्थल"

बाबा की इच्छानुसार बाबा को हरिद्वार में "जलसमाधि" दी गई थी। इसलिए उनकी तो कोई समाधी नही है, मगर इस आश्रम के अन्य सन्यासियों का यह समाधी स्थल है।
इस स्थल के सामने (बाबा की कुटिया के बगल में) बच्चों का पार्क हुआ करता था।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें